IPO kya hai | आईपीओ क्या है | IPO in hindi | IPO Subscription in hindi | IPO full form in hindi.

 IPO in hindi 

 
 
दोस्तों कोरोना महामारी के कारण बहुत सारे लोगों ने अपना कामकाज खो दिया है, ऐसे में लोगों ने अपने आय के स्रोत के लिए शेयर मार्केट को चुना है. लेकिन हम अक्सर विज्ञापनों में देखते हैं की शेयर बाजार जोखिमों के अधीन है और हमें काफी सोच समझकर इसमें निवेश करना चाहिए.
शेयर बाजार में निवेश करने के अनेकों माध्यम है उनमें से शेयर खरीदना और बेचना एक है. आज हम शेयर खरीद बिक्री से जुड़ा एक महत्वपूर्ण अंग ipo in hindi के बारे में बात करने वाले हैं.

 
स्टॉक मार्केट में काफी ज्यादा उतार-चढ़ाव के कारण बिना किसी खोज और जांच के निवेश किया गया पैसे अक्सर डूब जाते हैं. इसलिए जो भी शेयर मार्केट में पैसा कमाना चाहते हैं वह इन छोटी-छोटी जानकारियों को अवश्य जान ले.
 
इस पोस्ट के माध्यम से हम ipo in hindi से जुड़े सभी महत्वपूर्ण विषयों पर बात करेंगे जैसे कि ipo kya hota hai, ipo allotment status in hindi, ipo me invest kaise kare, ipo full form in hindi, आगामी आईपीओ सूची 2022, ipo ke nuksan, ipo subscription in hindi, इत्यादि सभी के बारे में विस्तार में बात करेंगे.

 
तो चलिए शेयर मार्केट से जुड़े  खास आर्टिकल को शुरू करते हैं.
Ipo kya hai | ipo in hindi

यह भी पढ़ें:- 

 
 

What is IPO in hindi?
( आईपीओ क्या होता है)

 
आईपीओ (ipo in hindi) दरअसल वह प्रक्रिया है जिससे एक निजी कंपनी जो कि एक परिवार या परिवार के समूह द्वारा चलाया जाता है उसे पब्लिक करना. जिससे कि उस कंपनी केे शेयर एक्सचेंज (BSE & NSE) पर लिस्ट हो जाए और लोग उन शेयर की खरीद बिक्री कर सकें. Ipo in hindi दरअसल एक लंबी प्रक्रिया है जिसके बाद वह कंपनी पूरी तरह से लिस्ट हो जाती है.
किसी भी निजी कंपनी के आईपीओ लाने के पीछे बहुत सारे कारण हो सकते हैं जैसे कि वह कंपनी अपना कर्ज चुकाने के लिए हिंदी जमा करना चाहती हो या फिर कंपनी को आगे विकास के लिए कैपिटल की आवश्यकता हो.
आईपीओ के द्वारा बड़े-बड़े निवेशक, उद्योगपति, और आम निवेशकों को भी बड़ी संख्या में एक fix lot में शेयर्स allot किए जाते हैं.

 
Ipo in hindi मैं आईपीओ खरीदने की वैधता कुल 3 दिनों की होती है जिसमें अलग-अलग निवेशक जैसे कि इंस्टीट्यूशनल, और आम निवेशकों के लिए अभी अलग-अलग मात्रा में share lot रिजर्व रखे जाते हैं.
 
चलिए हम आईपीओ के हर एक चीज के बारे में विस्तार में बात करते हैं.
 


IPO full form in hindi.
(IPO का फुल फॉर्म क्या होता है?)

 
आईपीओ का फुल फॉर्म:- Initial Public Offering होता है इसमें किसी भी कंपनी के शेयर को सेकेंडरी मार्केट में जारी करने से पहले प्राइमरी मार्केट में निवेशकों को allot किए जाते हैं.
 
Ipo in hindi मतलब फिक्स प्राइस पर एक fix lot of shares निवेशकों को allot करना और बाद में जब इस कंपनी के शेयर्स एक्सचेंज पर लिस्ट हो जाते हैं तो उनकी खरीद बिक्री जारी करना.


IPO opening and process in hindi.
( आईपीओ ओपनिंग की प्रक्रिया)

 
IPO subscription in hindi दरअसल किसी भी आईपीओ को ओपन करने से पहले बहुत सारी बातों का ख्याल रखा जाता है. उनमें से प्रमुख है कि वह कंपनी SEBI (Securities and Exchange Board of India) के नियमों का पालन करें.
 
1. किसी भी आईपीओ ओपनिंग से पहले वह कंपनी एक मर्चेंट बैंकर नियुक्त करती है, यह बैंकर सेबी के नियमों का पालन करते हुए आईपीओ से जुड़े सभी कार्यों को पूरा करता है और सेबी से आईपीओ के लिए आवेदन भी करता है.
 
2. वह मर्चेंट बैंकर उस कंपनी के लिए एक Draft Red Herring Prospectus भी तैयार करता है और बाद मे उसे SEBI को सौंपता है. उस ड्राफ्ट में कंपनी से जुड़े लगभग सभी जानकारी होती है जिसके आईपीओ के लिए आवेदन किया जाता है.
उस ड्राफ्ट में उस कंपनी का मुख्य काम, आय के स्रोत, कर्ज़, निवेशक, निवेश से जुड़े रिस्क, कानूनी विवाद, लगभग सभी चीज की जानकारी होती है.

 
3. SEBI जब उस कंपनी से जुड़े सभी दस्तावेजों को जांच कर लेती है तब उस कंपनी को आईपीओ के लिए बोली (bid) मंगवाने के लिए बोलती है.
 
4. कंपनी के शेयर अलग-अलग प्रकार के निवेशकों के लिए रिजर्व रखा जाता है जिसके बारे में हमने ऊपर चर्चा की. एक बार बोली आ जाने के बाद आईपीओ को एक निश्चित तिथि पर खरीदारी के लिए खोला जाता है.
उसके बाद जो भी निवेशक उस कंपनी का शेयर को खरीदना चाहते हैं वह खरीद सकते हैं.
 
किसी भी आईपीओ ओपनिंग को 3 दिनों के लिए खरीदारी के लिए रखा जाता है उसके बाद आईपीओ ओपनिंग क्लोज कर दी जाती है. आईपीओ खरीदने के बाद आप उस ipo allotment status in hindi को चेक भी कर सकते हैं. तो चलिए इसके बारे में भी जान लेते हैं.
 


IPO allotment status in hindi.
( आईपीओ एलॉटमेंट स्टेटस)

 
किसी भी आईपीओ को खरीदने के बाद कंपनी तुरंत और शेयर को आपके अकाउंट में ट्रांसफर नहीं करते हैं. एक बार जब ipo opening in hindi क्लोज हो जाती है उसके बाद कंपनी आईपीओ द्वारा खरीदे गए आपके शेयर lot को आपके अकाउंट में ट्रांसफर कर देती है.
 
आईपीओ ओपनिंग के दौरान इस बात का भी खासा ख्याल रखा जाता है कि जिस प्रकार के निवेशकों के लिए जितना भी शेयर रिजर्व रखा गया हो उससे ज्यादा उस शेयर की खरीदारी ना की गई हो. अगर ऐसा होता है तो आपके द्वारा खरीदे गए अधिक शेयर लॉट को कब मात्रा में आपके अकाउंट में ट्रांसफर किया जाता है.

 
Ipo allotment status in hindi को आप अपने ब्रोकर ऐप के जरिए देख सकते हैं, और अधिक जानकारी के लिए आप अपने ब्रोकर सभी संपर्क कर सकते हैं.
 
 

How to invest in ipo in hindi
( आईपीओ में निवेश कैसे करें)

 
Ipo me invest kaise kare:- इसका जवाब बिल्कुल आसान है, आप अपना ब्रोकर एप के द्वारा आईपीओ खरीदारी के लिए आवेदन कर सकते हैं. Ipo me invest karne ke liye सबसे जरूरी है कि आपके पास एक डीमैट अकाउंट होना चाहिए.
 
अगर आपके पास आपको डिमैट अकाउंट नहीं है तो आप ऑनलाइन ब्रोकर एप जैसे कि एंजेल वन, और ग्रो एप में अपना अकाउंट खोल सकते हैं और यह बिल्कुल फ्री है. जैसे यदि आपका डिमैट अकाउंट Groww app में है तो आप उस ऐप को ओपन करें. नीचे आपको आईपीओ काा सेक्शन दिखाई देगा. आप उस पर क्लिक करें वहां आपको मौजूदा सारे आईपीओ ओपनिंग दिख जाएंगे.
 
जैसे फिलहाल rategain ipo gmp status, rategain ipo gmp, tega ipo allotment status, mapmyindia ipo, star health ipo, अभी खरीदारी के लिए ओपन है जिसके बारे में लोग ज्यादा सर्च कर रहे हैं. तो चलिए बताता हूं की आप rategain ipo allotment in hindi को कैसे खरीद सकते हैं.

 
जैसे ही मैंने ग्रो एप में आईपीओ सेक्शन पर क्लिक किया, वहां rategain ipo apply का बटन सबसे ऊपर दिया है. उस पर क्लिक करते हैं आपको आईपीओ को खरीदने के लिए share lot के लिए पूछा जाएगा. आप शेयर की मात्रा भरकर नीचे continue बटन पर क्लिक कर सकते हैं और आईपीओ की खरीदारी कर सकते हैं, और अपना ipo subscription in hindi को पूरा कर सकते हैं.
 
Ipo kya hai | ipo in hindi

 

एक बात का ध्यान रखें कि आईपीओ की खरीदारी के लिए आप कैश/चेक के जरिए पेमेंट नहीं कर सकते हैं. खरीदारी के लिए पेमेंट आपको आपके डिमैट अकाउंट से जुड़ी बैंक अकाउंट से ही करनी होगी.
 
हमें उम्मीद है कि यहां तक आप को पता चल गया होगा कि ipo me invest kaise kare?. इसके बाद अब जानेंगे कि ipo se paise kaise kamaye?


How to earn money from ipo in hindi?
( आईपीओ से पैसे कैसे कमाए?)

 
बहुत सारे रिटेल और इंस्टीट्यूशनल निवेशक आईपीओ ओपनिंग से ढेर सारा मुनाफा कमाते हैं, अगर उनके चार आईपीओ में से दो या तीन आईपीओ भी सफल हो जाते हैं तो वह एक अच्छा खासा मोटा रकम कमा लेते हैं.
Ipo se paise kaise kamaye, इसमें बहुत सारे बैंक आईपीओ ओपनिंग के दौरान भारी संख्या में शेयर को खरीदते हैं और जैसे ही उन शेयर्स लिस्टिंग एक्सचेंज पर हो जाती है, एकाएक वह शेयर की कीमत तेजी से बढ़ती/घटती है. ऐसे में  बैंक और निवेशक शेयर की कीमत बढ़ने पर उन्हें बेचकर पैसा कमा लेते हैं.
 
शेयर के अचानक प्राइस पढ़ने का मुख्य कारण यह होता है कि जो भी निवेशक आईपीओ के दौरान उस शेयर को नहीं खरीद पाते हैं, वह उसे सेकेंडरी मार्केट में शुरुआती कीमत पर खरीदना चाहते हैं और इसी कारण शेयर की प्राइस अचानक बढ़ने लगती है.

 
एक बात का यह भी ख्याल रखें की अधिकतर आईपीओ भी असफल हो जाते हैं और जिन निवेशकों ने भी इन आईपीओ में पैसे लगाए होते हैं उनका पूरा पैसा डूब जाता है, जैसे फिलहाल में paytm ipo failure इसका एक अच्छा उदाहरण है. पेटीएम के शेयर्स एक्सचेंज पर लिस्टिंग होते ही इसके शेयर की कीमत में भारी गिरावट देखने को मिली. ऐसे में आम निवेशकों को काफी भारी नुकसान हुआ. इसलिए किसी भी कंपनी के आईपीओ में पैसे निवेश करने से पहले उस कंपनी के DRHP को एक बार अच्छे से जरूर पढ़ ले. Paytm ipo failure जैसे अन्य ढेर सारे आईपीओ हैं जो ipo ke nuksan को दर्शाते हैं.

Upcoming ipo list 2022 in hindi
( आगामी आईपीओ 2022 की सूची)

 
जैसा कि मैंने बताया कि आप अपने ब्रोकर ऐप द्वारा आईपीओ की खरीदारी कर सकते हैं, ठीक उसी प्रकार upcoming ipo list 2022 in hindi के लिए भी आप अपने ब्रोकर एप का इस्तेमाल कर सकते हैं.
 
यह ब्रोकर ऐप किसी भी आईपीओ ओपनिंग की जानकारी ओपनिंग तिथि से बहुत पहले ही जारी कर देती हैं. Upcoming ipo list 2022 in hindi के साथ 7 यहां आपको इन आईपीओ से जुड़े लगभग सभी जानकारी मिल जाती है, जैसे कि इस कंपनी के फंडामेंटल, आईपीओ आने की तिथि, शेयर लोट साइज, आईपीओ कैपिटल इत्यादि.

 
आगामी आईपीओ सूची के लिए आप अलग-अलग न्यूज़ चैनल्स का भी सहारा ले सकते हैं. हालांकि न्यूज़ चैनल इन आईपीओ के बारे में विस्तार में जानकारी नहीं देते.

आईपीओ के बारे में अधिक जानकारी के लिए आप ऊपर दिए गए वीडियो को देख सकते हैं.

 

IPO in hindi FAQs.

 
1. IPO ka full form kya hota hai?
—- IPO ka full form Initial Public Offering hota hai.
 
2. Ipo subscription in hindi कैसे करें?
Ipo subscription in hindi के लिए आप अपने ब्रोकर ऐप का इस्तेमाल कर सकते हैं.
 
3. Ipo ke nuksan क्या है?
—- कभी-कभी आईपीओ ओपनिंग क्लोज होने के बाद उस कंपनी से जुड़े बहुत सारे नकारात्मक जानकारी मार्केट में फैल जाती है जिसके कारण उस कंपनी के शेयर की कीमत गिरने लगती है और निवेशकों को भारी नुकसान होता है.

 
4. आईपीओ क्या होता है?
—– आईपीओ दरअसल वह प्रक्रिया है जिसके द्वारा एक निजी कंपनी को पब्लिक कंपनी में बदला जाता है. ऐसा करने पर उस कंपनी से जुड़े शेयर्स निवेशकों को दिया जाते हैं और वह निवेशक उस कंपनी के हिस्सेदार हो जाता है.
 
5. आईपीओ का शेयर कितने का है?
—- दरअसल आईपीओ में खरीदे गए शेयर्स संख्या की बजाय लॉट में खरीदे जाते हैं, अलग-अलग कंपनी के आईपीओ की लोट साइज अलग-अलग होती है.



अंतिम शब्द
.

 
किस आर्टिकल के जरिए हमने शेयर बाजार से जुड़े एक महत्वपूर्ण विषय ipo in hindi के बारे में विस्तार में बात की है. कहा जाता है कि किसी किसी भी चीज के बारे में अधूरी जानकारी बहुत खतरनाक होती है इसलिए शेयर बाजार में निवेश करने से पहले आप इसके बारे में जानकारी अवश्य प्राप्त करें.

यहां हमने चर्चा किया कि ipo kya hai, ipo me invest kaise kare, ipo se paise kaise kamaye, ipo subscription in hindi, ipo ke nuksan, इत्यादि.
 
यदि आईपीओ से जुड़ी अन्य जानकारी है सुझाव आपके पास हो तो आप हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं.
 
और ऐसे ही जानकारी भरे ब्लॉग पोस्ट पढ़ने के लिए आप हमारे ब्लॉग के साथ जुड़े रहे हैं और साथ ही हमारे सभी सोशल मीडिया हैंडल के साथ में जुड़े.

Leave a Comment